Dard Bhari Shayari in Hindi | Best Collection of Gam Bhari Shayari

Dard Bhari Shayari in Hindi. Best Collection Of All Hindi Shayari. In this post, get all beautiful Hindi Dard Bhari Shayari Also see a Gam Bhari Shayari.

So find Best Dard Bhari Shayari in Hindi for girlfriend. Gam Bhari Shayari in Hindi, Sad Quotes Images Shayari. If you looking for the best Gam ki Shayari and Quotes. Then here u get Rulane Wale SMS And Dard Bhari Quotes In Hindi.

what You Get From This Blog?

Sad ShayariAttitude Shayari
Birthday ShayariLove Shayari
Dosti ShayariMotivational Shayari
dard bhari shayari hindi mai
dard bhari shayari hindi mai
dardnak shayari in hindi
dardnak shayari
“अगर वो मांगते हम जान भी दे देते,
मगर उनके इरादे तो कुछ और ही थे,
मांगी तो प्यार की हर निशानी वापिस मांगी,
मगर देते वक़्त तो उनके वादे कुछ और ही थे.”
“सोचता हूँ सागर की लहरों को देख कर,
क्यूँ ये किनारे से टकरा कर पलट जातें हैं,
करते हैं ये सागर से बेवफाई,
या फिर सागर से वफ़ा निभातें हैं.”
“जिनकी याद में हम दीवाने हो गए,
वो हम ही से बेगाने हो गए,
शायद उन्हें तालाश है अब नये प्यार की,
क्यूंकि उनकी नज़र में हम पुराने हो गए.”
“लोग अपना बना के छोड़ देते हैं,
अपनों से रिशता तोड़ कर गैरों से जोड़ लेते हैं,
हम तो एक फूल ना तोड़ सके,
नाजाने लोग दिल कैसे तोड़ देते हैं.”
वक़्त नूर को बेनूर बना देता है,
छोटे से जख्म को नासूर बना देता है,
कौन चाहता है अपनों से दूर रहना पर वक़्त सबको मजबूर बना देता है.
वफ़ा के नाम से वो अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे.
हर रिश्ते को अजमाया है हमने,
कुछ पाया पर बहुत गवाया है हमने,
हर उस शख्स ने रुलाया है,
जिसे भी हमने इस दिल में बसाया है
आज किसी की दुआ की कमी है,
तभी तो हमारी आँखों में नमी है,
कोई तो है जो भूल गया हमें,
पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है.
वो नदियाँ नहीं आंसू थे मेरे,
जिस पर वो कश्ती चलाते रहे,
मंजिल मिले उन्हें यह चाहत थी मेरी,
इसलिए हम आंसू बहाते रहे
मेरी मोहब्बत मेरे दिल की गफलत थी,
मैं बेसबब ही उम्र भर तुझे कोसता रहा,
आखिर ये बेवफाई और वफ़ा क्या है,
तेरे जाने के बाद देर तक सोचता रहा.
Gam Bhari Shayari in hindi
Gam Bhari Shayari

“काश वो समझते इस दिल की तड़प को,
तो यूँ हमें रुसवा ना किया होता,
उनकी ये बेरुखी भी मंज़ूर थी हमें,
बस एक बार हमें समझ लिया होता.”

Dard Bhari Shayari in Hindi
Dard Bhari Shayari
“हर रोज़ पीता हूँ तेरे छोड़ जाने के ग़म में,
वर्ना पीने का मुझे भी कोई शौंक नहीं,
बहुत याद आते है तेरे साथ बीताये हुये लम्हें,
वर्ना मर मर के जीने का मुझे भी कोई शौंक नहीं.”
“ना मुस्कुराने को जी चाहता है,
ना आंसू बहाने को जी चाहता है,
लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद में,
बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है.”
“आँखों से आंसू न निकले तो दर्द बड जाता है,
उसके साथ बिताया हुआ हर पल याद आता है,
शायद वो हमें अभी तक भूल गए होंगे,
मगर अभी भी उसका चेहरा सपनो में नज़र आता है.”
dard bhari shayari photo
dard bhari shayari photo
मैं इसे किस्मत कहूँ या बदकिस्मती अपनी,
तुझे पाने के बाद भी तुझे खोजता रहा,
सुना था वो मेरे दर्द मे ही छुपा है कहीं,
उसे ढूँढने को मैं अपने ज़ख्म नोचता रहा.
बड़ी आसानी से दिल लगाये जाते हैं,
पर बड़ी मुश्किल से वादे निभाए जाते हैं,
ले जाती है मोहब्बत उन राहो पर,
जहा दिए नही दिल जलाए जाते हैं.
क्या करूँगा उसका इंतज़ार करके
जब चली गई वो मुझे बर्बाद करके
सोचा था अपना भी एक जहाँ होगा
मगर मिली सिर्फ तन्हाई उसे प्यार करके.
“ज़ख़्म जब मेरे सिने के भर जाएँगे, आँसू भी मोती बनकर बिखर जाएँगे, ये मत पूछना किस किस ने धोखा दिया, वरना कुछ अपनो के चेहरे उतर जाएँगे”
बेताब से रहते हे तेरी याद मे अक्सर, रात भर नही सोते तेरी याद मे अक्सर, जिस्म मे दर्द का बहाना सा बना के, हम टूट के रोते हे तेरी याद मे अक्सर”
“ज़िंदगी से यू चले है इल्ज़ाम लेकर, बहुत जी चुके उसका नाम लेकर, अकेले बाते करेंगे वो इन सितारो से, जब हम चले जाएँगे उन्हे सारा आसमान देकर”
दर्द देने का अंदाज कुछ ऐसा है
दर्द दे कर कहते है अब हाल कैसा है, ज़हर दे कर कहते है अब पीना होगा, जब पी लिए तो कहते है अब जीना होगा”
जिंदगी देने वाले , मरता छोड़ गये, अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये,जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की, वो जो साथ चलने वाले, रास्ता मोड़ गये”
“कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको, चलो ऐसा करो भूला दो मुझको, तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये, दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको”
“ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं, तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं, वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं.”
dard bhari shayari in hindi for girlfriend
dard bhari shayari in hindi for girlfriend
“जिनकी आंखें आंसू से नम नहीं, क्या समझते हो उसे कोई गम नहीं, तुम तड़प कर रो दिये तो क्या हुआ, गम छुपा के हंसने वाले भी कम नहीं”
“काश कोई हम पर प्यार जताता, हमारी आंखों को अपने होंठों से छुपाता, हम जब पूछते कौन हो तुम, मुस्कुरा कर वो अपने आप को हमारी जान बताता”
मेरे इश्क में दर्द नहीं था पर दिल मेरा बे दर्द नहीं था, होती थी मेरी आँखों से नीर की बरसात, पर उनके लिए आंसू और पानी में फर्क नहीं था “
“उसकी पलकों से आँसू को चुरा रहे थे हम, उसके ग़मोको हंसींसे सजा रहे थे हम, जलाया उसी दिए ने मेरा हाथ जिसकी लो को हवासे बचा रहे थे हम”
प्रेम करके हमने क्या पाया है,
बस अपना समय किया जाया है,
इश्क़ किया जिससे ज़हां से ज़्यादा,
उससे हमने बस धोखा खाया है.
यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएं हम;
न तमन्ना है कि किसी को रुलाएं हम;
जिसको जितना याद करते हैं;
उसे भी उतना याद आयें हम.
वो हर बार अगर रूप बदल कर न आया होता,
धोका मैने न उस शख्स से यूँ खाया होता,
रहता अगर याद कर तुझे लौट के आती ही नहीं,
ज़िन्दगी फिर मैने तुझे यु न गवाया होता
ये जान गँवा दी, ये जुबां गँवा दी,
हमने तेरे इश्क में दो जहान गँवा दी,
सीने में पड़े थे दिल के हजार टुकड़े,
एक नज़र से तूने उनमें आग लगा दी.
ज़िंदगी ज़िंदगी नहीं जबतक मोहब्बत होती नही,ज़िंदगी ज़िंदगी नहीं जबतक मोहब्बत होती नही, मोहब्बत मोहब्बत नही जब तक हसा कर रुला देती नही.
उनका भी कभी हम दीदार करते हैउनसे भी कभी हम प्यार करते हैक्या करे जो उनको हमारी जरुरत न थीपर फिर भी हम उनका इंतज़ार करते है.
shayari dard bhari zindagi hindi
shayari dard bhari zindagi hindi
लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है
तेरी उल्फत को कभी नाकाम ना होने देंगे,तेरी दोस्ती को कभी बदनाम ना होने देंगे,मेरी जिंदगी में कभी सूरज निकले ना निकले,तेरी जिंदगी में कभी शाम नहीं होने देंगे.
हंसने के बाद क्यों रुलाती है दुनियां,जाने के बाद क्यों भुला देती है ये दुनियां,जिंदगी में क्या कोई कसर बाकी थी,जो मरने के बाद भी जला देती है ये दुनियां.
तन्हा रहना तो सीख लिया हमने,लेकिन खुश कभी ना रह पाएंगे,तेरी दूरी तो फिर भी सह लेता ये दिल,लेकिन तेरी मोहब्बत के बिना ना जी पाएंगे.
बिन बात के ही रूठने की आदत है;किसी अपने का साथ पाने की चाहत है;आप खुश रहें, मेरा क्या है;मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है.
शिकायत है उन्हें कि,हमें मोहब्बत करना नही आता,शिकवा तो इस दिल को भी है,पर इसे शिकायत करना नहीं आता
आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखाकश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखापत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वालामैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा
पास आकर सभी दूर चले जाते हैं, हम अकेले थे अकेले ही रह जाते हैं, दिल का दर्द किससे दिखाए, मरहम लगाने वाले ही ज़ख़्म दे जाते हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *